Online India

OnlineIndia   2018-04-15

माशिमं के अफसरों ने नियमों को किया नजरअंजाद, बगैर जांच किए 42 स्कूलों को दी मान्यता

Onlineindia रायपुर। सत्र 2018-19 की संबद्धता के लिए छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) ने 184 स्कूलों में 42 की बगैर जांच किए अनुशंसा कर दी। अपने ही नियमों को फेल करके माशिमं के अफसर कठघरे में आ गए हैं।
आपको बता दें कि सम्बद्धता के लिए माशिमं ने प्रदेशभर के स्कूलों से आवेदन मंगाए थे। स्कूलों को पेयजल, कक्ष और शिक्षकों की बुनियादी सुविधाओं के साथ विषयवार अध्ययन के लिए प्रयोगशाला, बच्चों के लिए पर्याप्त सुरक्षा, शौचालय आदि के आधार पर मान्यता दी जाती है। इसके लिए कोई भौतिक सत्यापन भी नहीं किया जा रहा है। पिछले साल माशिमं ने कुछ नियमों में बदलाव भी किया था, लेकिन उन नियमों का पालन न करके जिला शिक्षा अधिकारियों की विभागीय अनुमति के बाद ही 10 अप्रैल की बैठक में आधे घंटे के भीतर 42 स्कूलों को सम्बद्धता दे दी गई।
सूत्रों की मानें तो माशिमं की नई मान्यता समिति के सदस्यों की अनभिज्ञता का फायदा उठाया गया। बताया जाता है कि सदस्यों को नए नियमों की जानकारी नहीं थी। उनके सामने सुनियोजित तरीके से फाइल रखकर आधे घंटे के भीतर ही 42 स्कूलों के दस्तावेज जांच करवाकर अनुशंसा करवा ली गई। अब माशिमं के मान्यता समिति के सदस्य सम्बद्धता के लिए जिन स्कूलों को अनुशंसा की जा चुकी है, उनकी सैंपल जांच करने की बात कह रहे हैं।
हालांकि माशिमं ने 185 स्कूलों में सिर्फ 42 को ही इस बार सम्बद्धता दी है। 76 स्कूलों को कमियां पूरी करने के लिए 21 मई तक समय दिया गया है। नौ प्रस्ताव को अमान्य कर दिया गया है। 58 को जिला शिक्षा अधिकारी से विभागीय सहमति लेने के लिए भेजा गया है।

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like