Online India

Pooja Sharma   2018-05-15

यरुशलम में भड़की हिंसा, 58 की मौत और 2,700 घायल

OnlineIndia डेस्क। यरुशलम में अमेरिकी दूतावास के शिफ्ट किए जाने पर गाजा-इजरायल सीमा पर फिलीस्तीनी प्रदर्शनकारियों ने सोमवार को भारी विरोध प्रदर्शन शुरू किया। फिलिस्तीनी स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि इजराइली सेना की गोलीबारी में 58 फिलीस्तीनियों की मौत हो गई जबकि 2,700 घायल हो गए। इजराइली प्रधान मंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने इस गोलीबारी को लेकर कहा कि इजराइल तटीय एन्क्लेव के सत्तारूढ़ हमास समूह के खिलाफ अपनी देश की सुरक्षा का काम कर रहा था। 

वाशिंगटन के ब्रुकिंग्स इंस्टीट्यूशन थिंक टैंक में फिलीस्तीनी नेतृत्व के पूर्व सलाहकार खालिद एल्गीन्डी ने कहा, 'अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस मामले को शांत करने के लिए कुछ भी नहीं किया, उन्हें कम से कम इजराइली सेना को फिलिस्तीन प्रदर्शनकारियों पर गोलबारी करने से रोकना चाहिए।' बता दें कि यह हिंसा यरुशलम में अमेरिकी दूतावास के शिफ्ट किए जाने को लेकर हुई है, जिसमें राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप, उनके दामाद जेयर्ड कुश्नर और वित्त मंत्री स्टीवन नुचिन के नेतृत्व में अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल ने हिस्सा लिया था। 
आपको बता दें है कि इस मामले में अल कायदा आतंकी अयमान-अल-जवाहिरी ने भी रविवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी करते हए अमरीका को जेहाद की धमकी भी दे दी। उसने कहा कि अमेरिका का यरुशलम में अपना दूतावास शिफ्ट करना इस बात का प्रूफ है कि फिलिस्तीन के साथ बातचीत और शांति की कोशिशें नाकाम हो चुकी हैं। अब मुस्लिमों को अमेरिका के खिलाफ जिहाद करना चाहिए।

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like