Online India

Pooja Sharma   2018-07-26

टेलीकॉम डिपार्टमेंट से विलय की मिली मंजूरी, एक होंगे Idea-Vodafone

OnlineIndia व्यापार। गुरुवार को टेलीकॉम इंडस्ट्री में सबसे बड़े मर्जर को मंजूरी मिल गई है। अब आइडिया सेल्युलर और वोडाफोन इंडिया का एक दूसरे में विलय हो जाएगा। दूरसंचार विभाग (DoT) ने दोनों के विलय को अंतिम मंजूरी दे दी। सूत्रों के मुताबिक, DoT दोनों कंपनियों के प्रमुख को सर्टिफिकेट सौंप दिए गए हैं। दोनों के मर्जर होने से बनने वाली नई कंपनी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी होगी।

विलय के बाद इस बढ़ी हुई ताकत से दोनों कंपनियों को बाजार प्रतिस्पर्धा (कॉम्पिटिशन) से निपटने में काफी मदद मिलने की उम्मीद है। नई कंपनी रिलायंस जियो के आने के बाद टेलीकॉम बाजार आकर्षक पैकेज देकर ग्राहकों को तोड़ने-जोड़ने की जबरदस्त प्रतिस्पर्धा के दौर से गुजर रहा है।
नई कंपनी का नाम वोडाफोन-आइडिया लिमिटेड होगा। ग्राहक संख्या के हिसाब से भी यह देश की सबसे बड़ी मोबाइल दूरसंचार सेवा कंपनी हो जाएगी। सूत्रों के मुताबिक, ‘वोडाफोन-आइडिया के विलय को दूरसंचार विभाग की मंजूरी गुरुवार को अंतिम मंजूरी दे दी है। दोनों कंपनियों के विलय के बाद से नई कंपनी की संयुक्त कमाई 23 अरब डॉलर (1.5 लाख करोड़ रुपए से अधिक) होगी, जिसका 35 फीसदी मार्केट पर कब्जा होगा। नई कंपनी के पास करीब 43 करोड़ ग्राहक होंगे।

मर्जर के बाद वोडाफोन के पास नई कंपनी में 45.1 फीसदी हिस्सेदारी होगी। आदित्य बिड़ला ग्रुप के पास 26 फीसदी और आइडिया के शेयरधारकों के पास 28.9 फीसदी हिस्सेदारी होगी। विलय में जा रही इन दोनों टेलीकॉम कंपनियों पर इस समय कर्ज का संयुक्त बोझ 1.15 लाख करोड़ रुपए के लगभग बताया जा रहा है।

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like